Bhagya Laxmi Yojana | उत्तर प्रदेश सरकार की भाग्य लक्ष्मी योजना

भाग्य लक्ष्मी योजना (Bhagya Laxmi Yojana) :-

उत्तर प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में भाग्य लक्ष्मी योजना नाम की एक नई योजना की शुरुआत की गई है | जिसके तहत नवजात शिशु की मां को 50,000 रुपये का बांड और 5,100 बैंक खाते में दिए जायेंगे | उत्तर प्रदेश सरकार का महिला कल्याण विभाग (women welfare department), भाग्य लक्ष्मी योजना / Bhagya Laxmi Yojana (Money for Girl Child) के ब्लू प्रिंट को अंतिम रूप देने पर काम कर रहा है |

वर्ष 2006-07 में भी इस योजना को गरीबी रेखा से नीचे के परिवारों के लिए लागू किया गया था | ताकि कन्या भ्रूण हत्या को कम किया जा सके | ज्यादातर देखा गया है की आज भी कुछ लोग लड़कियों को बोझ समझते हैं | और उनके जन्म से ही उनके विवाह की चिंता करने लगते हैं | और यही कन्या भ्रूण हत्या का मुख्या कारण बनती है |  इसी चिंता को दूर करने के लिए उस समय के तत्कालीन मुख्यमंत्री और वर्तमान मुख्य मंत्री ने इस योजना को शुरू करने का प्रस्ताव रखा |

भाग्य लक्ष्मी योजना की मुख्य बातें :-

  • गरीबी रेखा से नीचे के परिवार या जिनकी वार्षिक आय 2 लाख रुपये से कम है इस योजना के तहत अपनी बेटियों का नामांकन करा सकते हैं |
  • गरीबी रेखा से नीचे के परिवारों की 2 बेटियों को भी इस योजना के तहत लाभ मिल सकता है बस शर्त यह है कि बच्चों की कुल संख्या 3 से अधिक नहीं होनी चाहिए |
  • यह योजना उत्तर प्रदेश सरकार के महिला कल्याण विभाग द्वारा लागू की जाएगी | विभाग इस योजना के blue print को अंतिम रूप दे रहा है |
  • इस योजना के अंतर्गत नवजात शिशु की मां को 50,000 रुपये का बांड और 5,100 बैंक खाते में दिए जायेंगे |
  • जब लड़की की उम्र 21 साल तक पहुंच जाएगी तो लड़की के माता-पिता को 2 लाख रुपये तक की कुल वित्तीय सहायता मिल जाएगी |

भाग्य लक्ष्मी योजना के लिए पात्रता मापदंड :-

  • योजना का लाभ उठाने वाले परिवार की वार्षिक आय 2 लाख रुपये से कम होनी चाहिए |
  • आवेदक के पास खुद का और लाभार्थी का आधार कार्ड होना आवश्यक है |
  • माता-पिता को उत्तर प्रदेश का मूल निवासी होना चाहिए |
  • परिवार में बच्चों की कुल संख्या 3 से अधिक नहीं होनी चाहिए |
  • लड़की की शादी 18 वर्ष से कम उम्र में नहीं होनी चाहिए |
  • बच्ची को स्वास्थ्य विभाग से रोग प्रतिरक्षी करना आवश्यक है |
  • किसी सरकारी शिक्षण संस्थान में दाखिला करवाना आवश्यक है |

भाग्य लक्ष्मी योजना के तहत दी जाने वाली सहायता राशि :-

  • नवजात शिशु के जन्म पर शिशु की मां को 50,000 रुपये का बांड और 5,100 बैंक खाते में दिए जायेंगे और जैसे-2 लड़की बढ़ती जाएगी भाग्य लक्ष्मी योजना के अंतर्गत, माता-पिता को सहायता राशि दी जाएगी |
  • जब लड़की कक्षा 6वीं तक पहुंचेगी तो माता-पिता को 3,000 रुपये की सहायता राशि प्रदान की जाएगी |
  • जब लड़की कक्षा 8वीं तक पहुंचेगी तो माता-पिता को 5,000 रुपये की सहायता राशि प्रदान की जाएगी |
  • जब लड़की कक्षा 10वीं तक पहुंचेगी तो माता-पिता को 7,000 रुपये की सहायता राशि प्रदान की जाएगी |
  • जब लड़की कक्षा 12वीं तक पहुंचेगी तो माता-पिता को 8,000 रुपये की सहायता राशि प्रदान की जाएगी |
  • जब लड़की की उम्र 21 साल तक पहुंच जाएगी तो लड़की के माता-पिता को 2 लाख रुपये तक की कुल वित्तीय सहायता मिल जाएगी |

 

Leave a Reply