Sadbhavna Diwas | सद्भावना दिवस |राजीव गांधी जयंती

सद्भावना दिवस (राजीव गांधी जयंती) :-

भारत के पूर्व प्रधानमंत्री श्री राजीव गांधी का जन्मदिन प्रतिवर्ष 20 अगस्त को सद्भावना दिवस (Sadbhavna Diwas) के रूप मे मनाया जाता है | सद्भावना जिसका अर्थ है दूसरों के लिए अच्छे विचार रखना जो की राजीव गाँधी की सरकार का एक मात्र मिशन था | भारत के सभी धर्मों के बीच सामुदायिक समरसता, राष्ट्रीय एकता, शांति, प्यार और लगाव को लोगों में बढ़ावा देने के लिये इसे हर साल 20 अगस्त को काँग्रेस पार्टी द्वारा केक काटकर मनाया जाता है | इस दिन भारत भर में श्री राजीव गांधी की प्रतिमा को माला पहना कर श्रद्धांजलि दी जाती है जिस समारोह में कई नेताओं और दिवंगत प्रधानमंत्री के परिवार के सदस्य मौजूद होते हैं | जहाँ श्री राजीव गांधी का अंतिम संस्कार किया गया था उसे वीर भूमि कहा जाता है |

राजीव गांधी सद्भावना दिवस (Sadbhavna Diwas) दिवंगत प्रधानमंत्री के आदर्शों, मूल्यों, और राष्ट्र की प्रगति के लिए उनके नजरिए को मनाने का एक दिन है | राष्ट्र की प्रगति और कई राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय परियोजनाओं के बारे में उनकी अग्रणी सोच को समझने का एक प्रयास है |

सद्भावना साइकिल रैली :-

वर्ष 2013 में भारत के पूर्व प्रधानमंत्री श्री राजीव गांधी के 69 वें वर्षगांठ के अवसर पर भुवनेश्वर में लोकनाथ महारथी के नेतृत्व में एक सद्भावना साइकिल रैली आयोजित की गयी थी | रैली को मास्टर कैंटीन स्क्वायर में कांग्रेस भवन से शुरू किया गया था और वानीविहार, रसूलगढ़ और कल्पना चौक के आसपास के क्षेत्रों को कवर करते हुए पुराने शहर में  मौसिम मंदिर के पास रैली को समाप्त किया गया | इस रैली में कांग्रेस पार्टी के प्रख्यात सदस्यों ने भाग लिया।

राजीव गांधी का राजनीतिक इतिहास :-

राजीव गांधी का जन्म एक बहुत ही प्रसिद्ध और शक्तिशाली राजनीतिक परिवार में हुआ था | उनके नाना जवाहर लाल नेहरू , आजाद भारत के पहले प्रधानमंत्री थे | राजीव गांधी स्वर्गीय प्रधानमंत्री श्रीमती इंदिरा गांधी के बेटे और उत्तराधिकारी थे | वह भारत के 6वें प्रधानमंत्री के रूप में 1984- 1989 के बीच की अवधि में सेवारत थे | जब उन्होंने अपना कार्यालय संभाला उस समय वे सबसे कम उम्र के भारतीय प्रधानमंत्री थे | 21  मई 1991 को श्रीपेरंबुदूर, चेन्नई के पास चुनाव प्रचार के दौरान राजीव गांधी हत्या कर दी गई |

सद्भावना दिवस (Sadbhavna Diwas) की प्रेरणा और महत्ता :-

राजीव गांधी ने भारत को विकसित राष्ट्र बनाने का सपना देखा था | और इसी दृष्टि से उनके द्वारा कई आर्थिक और सामाजिक सुधारों की शुरुआत की गई थी | भारत और अमेरिका के संयुक्त सत्र के दौरान कांग्रेस के हवाले से उन्होंने अपने उत्साही और प्रेरणादायक शब्दों में कहा था –

“भारत एक पुराना देश है, लेकिन एक युवा राष्ट्र है; हर जगह युवा की तरह, हम भी आतुर है। मैं जवान हूँ और मैंने भी एक सपना देखा है। मैंने एक ऐसे भारत का सपना देखा है जो शक्तीशाली हो, स्वतंत्र हो, आत्मनिर्भर हो, और मानवता की सेवा में दुनिया के सभी राष्ट्रों में अग्रणी हो।”

 राजीव गांधी राष्ट्रीय सद्भावना पुरस्कार :-

सांप्रदायिक सद्भाव, राष्ट्रीय एकता और शांति को बढ़ावा देने की दिशा में उल्लेखनीय योगदान करने वालो को राजीव गांधी राष्ट्रीय सद्भावना पुरस्कार (Rajiv Gandhi National Sadbhavana Award) से सम्मानित किया जाता है | यह पुरस्कार 20 अगस्त अर्थात सद्भावना दिवस के अवसर पर वितरित किया जाता है | पुरस्कार विजेता को 5 लाख का नगद पुरस्कार दिया जाता है |

राजीव गाँधी राष्ट्रीय सद्भावना पुरस्कार प्राप्तकर्ता :-

  1. मदर टेरेसा
  2. सुनील दत्त
  3. लता मंगेशकर
  4. उस्ताद बिस्मिल्लाह खाँ
  5. के.आर.नारायण
  6. जगन नाथ कौल
  7. दिलीप कुमार
  8. मौलाना वहीउद्दीन खाँ
  9. कपिला वात्सायन
  10. मुहम्मद युनस
  11. हितेश्वर साईकिया और सुभद्रा जोशी (संयुक्त)
  12. निर्मला देशपांडे
  13. तीस्ता सीतलवाड़ और हर्ष मंडेर (संयुक्त)
  14. एस एन सुब्बाराव, स्वामी अग्निवेश और मदारी मोईदीन (संयुक्त)
  15. एन राधाकृष्णन
  16. डी.आर.मेहता
  17. हेम दत्ता
  18. मुजफ्फर अली (भारत के नामी फिल्कार)
  19. गौतम भाई
  20. स्पिक मैके

 

loading...

Leave a Reply