केंद्र सरकार की प्रधान मंत्री मातृत्व वंदना योजना | Pradhan Mantri Matritva Vandana Yojana

प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना /Pradhan Mantri Matritva Vandana Yojana (PMMVY) :-

प्रधान मंत्री मातृत्व वंदना योजना (PMMVY) मातृत्व सहयोग योजना का बदला हुआ नाम है, जिसके अंतर्गत सरकार पहले जीवित बच्चे के जन्म के लिए गर्भवती और स्तनपान कराने वाली माताओं को 6000 रुपये की सहायता प्रदान करती है | केंद्र सरकार की कई अन्य कल्याणकारी योजनाओं के समान, सरकार ने इस योजना के नाम के साथ भी  “प्रधान मंत्री” जोड़ा है |

इस नई योजना को केंद्र सरकार के केंद्रीय मंत्रिमंडल ने मंजूरी दी है | केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने इसे और अधिक आकर्षक बनाने के लिए प्रधान मंत्री मातृत्व वंदना योजना (PMMVY) एक नया नाम दिया है | इस योजना को विशेष रूप से 2010 के आस पास शुरू किया गया है लेकिन इसका उतना प्रचार प्रसार नहीं किया गया | महिला और बाल कल्याण विभाग (women and child welfare department) के अनुसार, पहले की मातृत्व सहायता योजना इतनी सफल नहीं थी, यहां तक ​​कि बहुत से लोग इसके बारे में जानते भी नहीं थे |

Working Women Hostel Scheme

PMMVY योजना का उद्देश्य :-

  • काम करने वाली महिलाओं को आंशिक मुआवजा देना और उनके उचित आराम पोषण को सुनिश्चित करना |
  • नकदी प्रोत्साहन के माध्यम से गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली माताओं (lactating mothers) के स्वास्थ्य में सुधार और निम्न-पोषण (under-nutrition) के प्रभाव को कम करना |

प्रधान मंत्री मातृत्व वंदना योजना (PMMVY) जिसे पहले UPA शासन के दौरान इंदिरा गांधी मातृत्व सहयोग योजना (Indira Gandhi Matritva Sahyog Yojana) के रूप में नामित किया गया था | इस योजना को महिला एवं बाल विकास मंत्रालय (Ministry of Women and Child Development) द्वारा लागू किया जाएगा |

Bhagya Laxmi Yojana | उत्तर प्रदेश सरकार की भाग्य लक्ष्मी योजना

PMMVY योजना के लाभ :-

इस योजना के तहत पहले जीवित बच्चे के जन्म के लिए गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली माताओं को फायदा होगा | DBT मोड के माध्यम से सहायता राशि सीधे लाभार्थी के बैंक खाते में भेज दी जाएगी | रिपोर्ट के मुताबिक, सरकार किश्तों में निम्नलिखित राशि का भुगतान करेगी :-

  • गर्भावस्था के पंजीकरण के समय 1,000 रुपये की पहली किस्त प्रदान की जाएगी |
  • 6 महीने की गर्भावस्था के बाद कम से कम एक प्रसवपूर्व जांच के बाद 2,000 रुपये की दूसरी किस्त प्रदान की जाएगी |
  • जब बच्चे का पंजीकृत हो जाता है और बच्चे का BCG, OPV, DPT और hepatitis-B सहित पहला टीका चक्र होता है तो 3,000 रुपये की तीसरी किस्त प्रदान की जाती है |

प्रधान मंत्री मातृत्व वंदना योजना (PMMVY) निम्न श्रेणी के गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली माताओं के लिए लागू नहीं होगी  :-

  • ऐसी महिलाएं जो केंद्र या राज्य सरकार या किसी सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम के साथ नियमित रोजगार में हैं |
  • ऐसी महिलाएं जो किसी भी अन्य योजना या कानून के तहत समान लाभ प्राप्त कर रही हैं |

इस योजना का कुल बजट 12,661 करोड़ रुपये तय किया गया है और इसे जनवरी 2017 से मार्च 2020 के बीच कार्यान्वयित किया जाएगा | कुल 12,661 करोड़ रुपये में से 7,932 करोड़ रुपये केंद्र सरकार द्वारा वहन किए जाएंगे जबकि शेष राशि संबंधित राज्य सरकारों द्वारा वहन की जाएगी |

अरुणाचल प्रदेश सरकार की “दुलारी कन्या योजना” के बारे में जानें

One thought on “केंद्र सरकार की प्रधान मंत्री मातृत्व वंदना योजना | Pradhan Mantri Matritva Vandana Yojana

  • September 19, 2017 at 10:16 am
    Permalink

    Pradhanmantri maatru vandana scheme ka laabh kise mil sakta hai? Aur iske liye konse documents chahiye aur kya procedure hai ye detail mai samjayiye

    Reply

Leave a Reply