राष्ट्रीय भाषा दिवस – हिंदी दिवस

हिंदी दिवस (Hindi Diwas):-

हिंदी दिवस (Hindi Diwas)  के ऐतिहासिक अवसर को याद करने के लिए हर साल 14 सितंबर को देश भर में मनाया जाता है | ज्यादातर यह उत्सव केन्द्र सरकार के कार्यालयों , कंपनियों, स्कूलों और अन्य संस्थानों में सरकार द्वारा प्रायोजित किया जाता है | यह उत्सव हिंदी भाषा के प्रचार-प्रसार और इसे बढ़ावा देने का कार्य करता है | इसका महत्व इस दिन पर आयोजित दावतें (feasts), घटनाओं (events), प्रतियोगिताओं (competitions) और अन्य सेवाओं के द्वारा प्रदर्शन किया जाता है | यह उत्सव हिंदी भाषी को उनके आम जड़ों और एकता की याद दिलाता है |Hindi Diwas 14 September

हिंदी दिवस का इतिहास :-

हिंदी दिवस देश में हिंदी भाषा के महत्व को दिखाने के लिए भारत में सभी जगह मनाया जाता है | भारत में हिंदी भाषा का एक बहुत बड़ा इतिहास है जो भारत-यूरोपीय (Indo-European) भाषा परिवार के इंडो-आर्यन (Indo-Aryan) शाखा के अंतर्गत आता है | एक स्वतंत्र देश होने के बाद, भारत सरकार ने मातृभाषा अर्थात हिंदी भाषा के व्याकरण (Grammar) और इमला (orthography) के साथ मानकीकरण का लक्ष्य बनाया | लेखन में एकरूपता लाने के लिए देवनागरी लिपि (Devanagari script) का प्रयोग किया जाता है  | यह Mauritius, Pakistan, Surinam, Trinidad और कुछ अन्य देशों सहित दुनिया के कई देशों में बोली जाती है | यह लगभग 258 Million लोगों द्वारा एक मातृभाषा के रूप में बोली जाने वाली भाषा है और दुनिया की चौथी सबसे बड़ी भाषा के रूप में जानी जाती है |
यह हर साल 14 सितंबर को मनाया जाता है क्योंकि हिंदी भाषा ( देवनागरी लिपि में लिखित) को भारत की संविधान सभा (Constituent Assembly of India) द्वारा 14 सितंबर 1949 में भारत गणराज्य (Republic of India) की आधिकारिक भाषा के रूप में अपनाया गया था |  भारत की आधिकारिक भाषा (Official Language) के रूप में हिंदी भाषा का उपयोग करने का निर्णय भारत के संविधान (जो 26 जनवरी 1950 को प्रभाव में आया था) द्वारा वैध था | भारत के संविधान (Constitution of India) के अनुसार, देवनागरी लिपि में लिखित हिन्दी भाषा को अनुच्छेद 343 के तहत भारत की आधिकारिक भाषा के रूप में अपनाया गया था |

अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस 2016| International Literacy Day 2016 in Hindi

हिंदी दिवस (Hindi Diwas) पर होने वाले क्रियाकलाप  :-

हिंदी दिवस  स्कूलों, कॉलेजों , कार्यालयों , संगठनों और उद्यमों में हिंदी कविता, कहानी गायन , शब्दावली आदि से संबंधित अद्वितीय कार्यक्रमों और प्रतियोगिताओं के आयोजन के साथ एक दिवस के रूप में मनाया जाता है | हिंदी भारत में लोगों के बीच संचार (Communication) का बेहतर माध्यम है इसलिए इसे एक दूसरे के बीच promote किया जाना चाहिए | हिंदी को दुनिया की दूसरी सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषा के रूप में जाना जाता है |

हिंदी दिवस के दिन भारत के राष्ट्रपति (President of India) द्वारा नई दिल्ली में विज्ञान भवन में हिंदी से संबंधित विभिन्न क्षेत्रों में श्रेष्ठता के लिए लोगों पुरस्कार (Awards) वितरित किये जाते हैं | राजभाषा पुरस्कार (Rajbhasha awards) विभागों, मंत्रालयों, सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों और राष्ट्रीयकृत बैंकों को दिया जाता है | 25 मार्च 2015 के गृह मंत्रालय (Ministry of Home Affairs) के आदेश के बाद दो पुरस्कार जो हिंदी दिवस पर प्रतिवर्ष वितरित किये जाते हैं का नाम बदल दिया गया है । इंदिरा गांधी राजभाषा पुरस्कार ( जो 1986 में स्थापित किया गया था ) को राजभाषा कीर्ति पुरस्कार में बदल दिया गया है और राजीव गांधी राष्ट्रीय ज्ञान- विज्ञान मौलिक पुस्तक लेखन पुरस्कार को राजभाषा गौरव पुरस्कार में  बदल दिया गया है |

5 सितम्बर – शिक्षक दिवस | Teachers’ Day in Hindi

हिंदी दिवस का जश्न :-

हिंदी दिवस भारत की मातृ भाषा (mother language) को श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए प्रतिवर्ष मनाया जाता है | यह सरकारी कार्यालयों, निजी कार्यालयों, और शैक्षिक संस्थानों में लोगों द्वारा मनाया जाता है | यह शिक्षकों के उचित मार्गदर्शन के तहत विभिन्न गतिविधियों के साथ स्कूल और कॉलेज के छात्रों द्वारा मनाया जाता है | हिंदी दिवस पूरे देश में सबसे अधिक व्यापक रूप से बोली जाने वाली हिंदी भाषा के महत्व का जश्न है |

यह लगभग सभी स्कूलों और कॉलेजों में छात्रों द्वारा मनोरंजक गतिविधियों के साथ एक special assembly का आयोजन करके  मनाया जाता है | विभिन्न कक्षाओं के छात्रों द्वारा इस दिन होने वाली गतिविधियों में से कुछ हैं  भाषण सस्वर पाठ (speech recitation), निबंध लेखन, हिंदी कविता पाठ , कबीर दास के दोहे, रहीम के दोहे , तुलसी दास के दोहे के सस्वर पाठ , गायन गीत , नृत्य, हिन्दी में सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता , नाटक, slogan writing, आदि | इस दिन छात्र विशेष रूप से हिंदी भाषा में भाषण देकर,  निबंध लेखन या अन्य गतिविधियों द्वारा प्रेरित होते हैं | स्कूलों में छोटे बच्चों को भी हिंदी में कुछ कार्यों के बारे में कुछ लाइने लिखने को दी जाती हैं |

विभिन्न स्कूलों द्वारा राष्ट्रीय भाषा दिवस – हिंदी दिवस का जश्न मनाने के लिए इंटर स्कूल प्रतियोगिताएं आयोजित की जाती हैं | विभिन्न स्कूलों के छात्रों को हिन्दी कविता पाठ और नाटक जैसे विभिन्न प्रतियोगिताओं में हिस्सा लेने के लिए आमंत्रित किया जाता है | स्कूलों द्वारा आयोजित इस तरह की प्रतियोगिताओं से छात्रों को अलग अलग रंग और जायके के साथ उनकी हिंदी भाषा के ज्ञान का पता लगाने में मदद मिलती है |

29 अगस्त – राष्ट्रीय खेल दिवस |National Sports Day In Hindi

हिंदी भाषा और हिंदी दिवस मनाने का महत्व (Importance of Hindi Diwas) :-

हिन्दी हमारी मातृ भाषा है और आर्थिक समृद्धि और देश में तकनीकी विकास के साथ हमें इसे भी सम्मान देना चाहिए | हिन्दी भाषा अपने महत्व को थोड़ा खो रही है | हर कोई लगभग सभी क्षेत्रों में सफलता पाने के लिए अंग्रेजी भाषा सीखना और बोलना चाहते हैं  | हालांकि, सफल होने की अन्य आवश्यकताओं के साथ संपूर्ण ज्ञान के लिए हमें अपनी मातृ भाषा (mother language) और उसमें रुचि लेने नहीं छोड़ना चाहिए | किसी भी देश की संस्कृति (culture) और भाषा (language) उस देश के लोगों के बीच संपर्क (contact) बनाने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है |

किसी भी आर्थिक संपन्न देश की मातृ भाषा तेजी से अपने पंख फैलाती हैं और अन्य देशों के लोगों भी उस भाषा को सीखना चाहते हैं |हर भारतीय को हिंदी भाषा को value और देश में आर्थिक उन्नति के लिए credit देना चाहिए | यह बहुत प्राचीन समय से भारत के इतिहास को बताने और भविष्य में हमारी पहचान के लिए महत्वपूर्ण है | यह अन्य देशों (नेपाल , त्रिनिदाद , मारीशस , आदि) के लोगों द्वारा समझी और बोली जाने वाली भाषा है | यह एक दूसरे के साथ बातचीत करने का बहुत आसान और सरल साधन प्रदान करता है |

हिंदी भाषा को सम्मान देने और अगली पीढ़ी के लिए इसके महत्व को पारित करने के लिए हिंदी दिवस (Hindi Diwas)  का जश्न हर साल एक घटना के रूप में मनाने की जरूरत है | हिंदी दिवस (Hindi Diwas) मनाया जाना चाहिए , क्योंकि यह न केवल हमारी राष्ट्रीय भाषा है , बल्कि यह हमारी मातृभाषा भी है हम इसका सम्मान करते हैं इसलिए समय-2 इसे मनाया जाना चाहिए | हमें अपनी राष्ट्रीय भाषा पर गर्व होना चाहिए और अन्य देशों में हिंदी बोलने में कभी झिझक महसूस नहीं करना चाहिए | आज के समय में लगभग सभी कार्य क्षेत्रों में अंग्रेजी भाषा की बढ़ती मांग की वजह से हिन्दी की तुलना में अंग्रेजी भाषा को लोगों द्वारा पसंद किया जाता है | ऐसी हालत में, भारतीय लोगों को हिंदी दिवस का वार्षिक उत्सव मानाने में गर्व महसूस करना चाहिए कि वे एक दिन अपनी राष्ट्रीय भाषा के लिए प्रतिबद्ध है |

यह तहे दिल से हिंदी भाषा को बढ़ावा देने के लिए भारत की जनता को अवसर देता है | हिंदी दिवस (Hindi Diwas) के उत्सव से हिंदी भाषा के बारे में देश के युवाओं के बीच उत्साह आरंभ हो जाएगा | यह युवाओं के बीच हिंदी के बारे में सकारात्मक धारणा को प्रेरित करता है | इसलिए हमें हिंदी भाषा के महत्व को महसूस करने के लिए स्कूल, कॉलेज , समुदाय या समाज में आयोजित कार्यक्रमों की विविधता में भाग ले कर हर साल हिंदी दिवस को बड़े उत्साह के साथ मनाना जाना चाहिए |

loading...

Leave a Reply