मध्य प्रदेश अन्नपूर्णा योजना – भोजन कार्यक्रम | MP Annapurna Yojana – Meal Programme

मध्य प्रदेश अन्नपूर्णा योजना (MP Annapurna Yojana):-

अन्नपूर्णा योजना (MP Annapurna Yojana) , गरीबों को स्वस्थ भोजन उपलब्ध कराने के लिए मध्य प्रदेश की राज्य सरकार द्वारा शुरू की गयी एक नई योजना है | यह योजना तमिलनाडु की अम्मा कैंटीन योजना से प्रेरित है, इस योजना को गरीब परिवारों को सस्ता अनाज उपलब्ध कराने और उपभोक्ता जागरूकता के उद्देश्य से भोपाल में आयोजित शिविर में पूर्व केंद्रीय मंत्री और सांसद वेंकैया नायडू और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा शुरू किया गया था  |

madhya-pradesh-chief-minister-shivraj-singh-72183

मध्य प्रदेश अन्नपूर्णा योजना (MP Annapurna Yojana) का उद्देश्य :-

इस योजना का मूल उद्देश्य गरीब परिवारों को सस्ते मूल्य में अनाज उपलब्ध कराना है |  योजना के अनुसार गरीबी रेखा (BPL) से नीचे के परिवारों को, गेहूं 3 रुपये प्रति किलोग्राम की दर से और चावल 4.5 रुपये प्रति किलोग्राम की दर से उपलब्ध कराया जाएगा | भारतीय जनता पार्टी ( भाजपा) के वरिष्ठ नेता वेंकैया नायडू ने बढ़ती कीमतों से जूझ गरीब परिवारों के लिए अन्नपूर्णा योजना को एक वरदान के रूप में वर्णित किया है | उन्होंने कहा कि अन्य राज्यों Suit का पालन करना चाहिए और केंद्र सरकार को संविधान में संशोधन करके देश भर में इस योजना को लागू करना चाहिए |

2008042755660701_401429e

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा किसानों की समृद्धि के लिए गेहूं के समर्थन मूल्य पर 100 रुपये प्रति क्विंटल का Bonus दिया जायेगा | अन्नपूर्णा योजना गरीबों को भूख से बाहर निकालने के लिए शुरू की गई है | यह योजना गरीबों को बढ़ती महंगाई के इस मुश्किल समय में बड़ी राहत प्रदान करेगा |

देश में बीपीएल परिवारों की संख्या में 41 लाख से 62 लाख की वृद्धि हुई है और यह बृद्धि जारी है | यह केंद्र सरकार द्वारा पर्याप्त खाद्यान्न उपलब्ध न करा पाने की वजह से राज्य सरकार ने बड़ी मात्रा में गेहूं की खरीद के द्वारा अन्नपूर्णा योजना शुरू करने का फैसला किया |राज्य सरकार को मध्यप्रदेश में खाद्यान्न के वितरण के लिए निर्धारित गेहूं और चावल के दरों के अलावा कोई राशि प्राप्त नहीं होती  |  राज्य सरकार ने प्रति परिवार 35 किलो की दर से खाद्यान्न उपलब्ध कराने के लिए केंद्र सरकार से मांग की है |

annapurnayojna

 

मुख्यमंत्री अन्नपूर्णा योजना के तहत 74 लाख परिवारों को फायदा होगा | 1 जून 2013 से कार्यान्वित इस योजना के अनुसार अंत्योदय , बीपीएल , बेसहारा बुजुर्ग बीपीएल व्यक्तियों को 1 रुपये प्रति किलो की दर से गेहूं , आयोडीन युक्त नमक और 2 रुपये प्रति किलो की दर से चावल प्रदान किया जा रहा था  | अन्नपूर्णा योजना के लिए चालू वित्त वर्ष में 160 करोड़ रुपये का प्रावधान बनाया गया है | योजना के तहत 213 करोड़ रुपये के वार्षिक व्यय का अनुमान लगाया गया है | चौहान ने कहा कि किसान विरोधी गतिविधियों पर अंकुश लगाने के लिए सख्त कदम उठाए जायेंगे और वह खुद मंडियों का आकस्मिक निरीक्षण करेंगे | इन प्रयासों से किसानों को उनकी उपज के लाभकारी रिटर्न सुनिश्चित करने में सहायता मिलेगी |

loading...

Leave a Reply