प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के बारे में जानें | About PMKVY in Hindi

 About PMKVY in Hindi

कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय (MSDE) :-

PMKVY : देश की बदलती जनसांख्यिकीय प्रोफाइल (Demographic Profile), जिसमे इसकी जनसंख्या के 54 % लोग 25 वर्ष से कम उम्र के हैं युवाओं की बढ़ती आकांक्षाओं में बेहतर रोजगार (better jobs) की मांग सबसे ऊपर है और उसी के साथ एक कर्मचारियों (Employers) के लिए नियोक्ताओं की अपेक्षाओं में भी दिन प्रति दिन बढ्ढोत्तरी हो रही है | अच्छी तरह से प्रशिक्षित कर्मचारियों की संख्या भारत में कौशल विकास को योगदान देगी | जनसांख्यिकीय लाभांश का लाभ लेने के लिए देश में कौशल विकास के प्रयासों के समन्वय की जरूरत को पहचाना गया | और भारत सरकार ने 31 जुलाई 2014 को कौशल विकास विभाग और उद्यमिता (Skill Development and Entrepreneurship) के गठन को अधिसूचित किया | जिसे 9 नवम्बर 2014 को कौशल विकास और उद्यमिता /Ministry of Skill Development and Entrepreneurship (MSDE) का एक पूर्ण मंत्रालय बन दिया गया |

pmkv

MSDE एक उपयुक्त कौशल विकास ढांचे के विकास के लिए सभी संबंधित पक्षों के साथ समन्वय बनाने, कुशल जनशक्ति के बीच की मांग और आपूर्ति (demand and supply) को ख़त्म करने , मौजूदा कौशल के मानचित्रण (mapping), बाजार अनुसंधान, प्रशिक्षण पाठ्यक्रम तैयार करने, उद्योग – संस्थान linkage, skilling में PPP तत्व लाने, अन्य सभी मंत्रालयों / विभागों के लिए व्यापक नीतियां बनाने, Soft Skills के लिए नीतियां बनाने, कंप्यूटर शिक्षा, औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान / Industrial Training Institutes (ITIs) और युवाओं के उद्यमिता शिक्षा के विस्तार से संबंधित कार्य के लिए जिम्मेदार है |

राष्ट्रीय कौशल विकास निगम (NSDC) :-

राष्ट्रीय कौशल विकास निगम / National Skill Development Corporation (NSDC) भारत में अपनी तरह का एक मात्र सार्वजनिक निजी भागीदारी है | इसका उद्देश्य कौशल विकास को बढ़ावा देने के लिए व्यावसायिक प्रशिक्षण संस्थानों के व्यापक निर्माण, गुणवत्ता के लिए उत्प्रेरित करना है | NSDC व्यावसायिक प्रशिक्षण (Vocational Training) की पहल के लिए धन उपलब्ध कराता है | NSDC गुणवत्ता आश्वासन (quality assurance), सूचना प्रणाली के रूप में समर्थन प्रणाली (support systems) को सक्षम बनाता है | और प्रशिक्षण अकादमियों (trainer academies) को सीधे या भागीदारी के माध्यम से प्रशिक्षित करता है |

nsdc_logo

उद्देश्य :-

इस योजना का उद्देश्य युवाओं के लिए चलाये जा रहे अनुमोदित प्रशिक्षण कार्यक्रम (approved training programs) के सफल समापन पर मौद्रिक पुरस्कार (monetary rewards) प्रदान कर कौशल विकास को प्रोत्साहित करना है |विशेष रूप से, इस योजना का उद्देश्य :-

  1. प्रमाणीकरण की प्रक्रिया (certification process) में standardization को प्रोत्साहित करना और कौशल की एक रजिस्ट्री बनाने की प्रक्रिया शुरू करना |
  2. भारतीय युवाओं की एक बड़ी संख्या को कौशल प्रशिक्षण लेने के लिए जुटाना और अपनी आजीविका कमाने के लिए सक्षम बनाना |मौजूदा कार्यबल की उत्पादकता को बढ़ाना और देश की जरूरतों के लिए प्रशिक्षण (training) और प्रमाणन (certification ) संरेखित करना |
  3. कौशल प्रशिक्षण द्वारा रोजगार और युवाओं की उत्पादकता को बढ़ावा देने के लिए उन्हें  कौशल प्रमाणन (Skill Certification) के लिए मौद्रिक पुरस्कार (monetary rewards) प्रदान कर प्रोत्साहित करना |
  4. पुरस्कृत उम्मीदवार 8,000 रुपये के औसत मौद्रिक इनाम के साथ अधिकृत संस्थाओं द्वारा कौशल प्रशिक्षण लेते है |
  5. 1,500 करोड़ रुपए की अनुमानित कुल लागत में 24 लाख युवाओं को फायदा होगा |

Rooman-banner-2

पृष्ठभूमि :-

वर्तमान में, केवल भारत के कार्यबल के एक बहुत छोटे से हिस्से को कोई औपचारिक कौशल प्रशिक्षण दिया जाता है इसलिए आश्चर्य नहीं है कि कई क्षेत्रों में कुशल लोगों की की कमी के और कर्मचारियों की खराब गुणवत्ता के कारण देश की अर्थव्यवस्था का स्तर कम रह जाता है | वहीँ दूसरी ओर देश के युवाओं का बड़ा हिस्सा आर्थिक और आजीविका के अवसरों की तलाश कर रहा है | यही कारण है कि कौशल विकास (Skill Development) देश के लिए एक प्रमुख प्राथमिकता वाला क्षेत्र बन गया है । यह न केवल आर्थिक विकास के लिए आवश्यक है बल्कि अच्छी गुणवत्ता के लिए युवाओं की आकांक्षाओं , बेहतर भुगतान नौकरी और स्वरोजगार के अवसर को पूरा करने में मदद मिलेगी | यह देश को जनसांख्यिकीय प्रोफाइल का लाभ अपने अनुकूल लेने के लिए सक्षम बनाएगा | कुशल लोगों के एक बड़े समूह के साथ भारत दुनिया के लिए एक कौशल प्रदाता, विशेष रूप बढ़ती उम्र के विकसित देशों के लिए बनने का अवसर है।

modi2

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना ( PMKVY ) कौशल विकास और उद्यमिता के नए मंत्रालय ( MSDE) के परिणाम स्वरुप शुरू कि गई प्रमुख कौशल प्रशिक्षण योजना है | इस कौशल प्रमाणीकरण और पुरस्कार योजना का उद्देश्य भारतीय युवाओं की एक बड़ी संख्या को कौशल प्रशिक्षण लेने के लिए जुटाना और अपनी आजीविका कमाने के लिए सक्षम बनाना है | इस योजना के तहत प्रशिक्षुओं को सफलतापूर्वक प्रशिक्षित करने के लिए मौद्रिक इनाम प्रदान किया जाएगा | यह देश के विभिन्न क्षेत्रों के कर्मचारियों को उच्च गुणवत्ता और कौशल प्रशिक्षण प्राप्त करने के लिए उन्हें सक्षम कर उनकी उत्पादकता को बढ़ावा देगा |

मौद्रिक पुरस्कार (Monetary Rewards) :-

Untitled

 

loading...

Leave a Reply