झारखण्ड सरकार के Tejaswini Project के बारे में जानें

Tejaswini Project :-

रघुबार दास ने झारखंड राज्य की लड़कियों को कौशल प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए तेजस्विनी परियोजना का शुभारंभ किया है | इस योजना के अंतर्गत झारखंड सरकार ने लड़कियों को कौशल प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए 48 पद बनाए हैं | इस योजना के लिए 600 करोड़ रुपये आवंटित किये गए हैं | इस योजना को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के दिन शुरू किया गया है | राज्य की लड़कियों को रोजगार के अवसर प्रदान करने के उद्देश्य से सरकार ने इस योजना को शुरू किया है |

किशोर बालिकाओं और युवा महिलाओं के सामाजिक आर्थिक सशक्तिकरण के लिए World Bank ने 21 जून 2016 को इस 63 million US dollor  के Tejaswini Project को मंजूरी दे दी थी | Tejaswini, World Bank द्वारा भारत में शुरू किया गया पहला project है जिसका उद्देश्य किशोर बालिकाओं और युवा महिलाओं को आर्थिक रूप से सशक्त बनाना है |

इस Project के तहत किशोर बालिकाओं और युवा महिलाओं को जिनकी आयु 14 से 24 वर्षों के मध्य है उन्हें secondary level education के लिए सहायता दी जायेगी | साथ ही इससे उन्हें job market के लिए प्रासंगिक कौशल प्राप्त करने में मदद मिलेगी |

Tejaswini Project के मुख्य बिंदु :-

  • यह Project राज्य के 17 जिलों की किशोर बालिकाओं और युवा महिलाओं को बाजार संचालित कौशल प्रशिक्षण, माध्यमिक शिक्षा और व्यापक सामाजिक-आर्थिक सशक्तिकरण में समर्थन करेगी |
  • ऐसा अनुमान है कि इस project से राज्य की 680000 किशोर बालिकाओं और युवा महिलाओं को लाभ होगा |
  • राज्य के 17 जिलों में 2.1 million किशोर बालिकाएं और युवा महिलाएं है जिनकी आयुसीमा 14 से 24 वर्षों के मध्य है जिनमे से 13% अनुसूचित जाति और 25% अनुसूचित जनजाति से संबंधित हैं |
  • परियोजना दो स्तरों community level और institutional level में विभाजित है |
  • Community level पर regular counselling, guidance sessions, life skills education, livelihood support जैसी अन्य कई सुविधाएँ प्रदान की जाएँगी |
  • Institutional level पर यह भागीदार संस्थान के साथ  performance-based contracts to deliver vocational training, business skills training और non-functional education का काम करेगा |

Tejaswini Project का उद्देश्य :-

Tejaswini Project का उद्देश्य महिलाओं को अपने जीवन में सुधार लाने में मदद करना है | यह विशेष रूप से महिलाओं को अधिक शैक्षणिक अवसर प्रदान करेगा जिससे संभावित रूप से महिलाएं लाभान्वित होंगी |

  • महिलाओं को विभिन्न क्षेत्रों में job प्राप्त करने के लिए प्रोत्साहित किया जायेगा | Fishing और Agriculture जैसे क्षेत्रों में जिन पर वर्षों से केवल पुरुष ही कार्य करते हैं उन क्षेत्रों में भी job प्राप्त करने के लिए उन्हें समर्थन दिया जाता है |
  • महिलाओं की शैक्षिक सहायता को बढ़ावा दिया जायेगा | जिससे महिलाएं अपनी रुचि के अनुरूप विभिन्न पदों को धारण कर सकेंगी |
  • लगभग 1 लाख महिलाएं जो entrepreneurs के रूप में कार्य कर रही हैं उन्हें smartphones प्रदान किया जायेगा | जिससे उन्हें दुसरे लोगों से संपर्क करने में मदद मिलेगी साथ ही देश की Digital Program को बढ़ावा मिलेगा |

सरकार तेजस्विनी परियोजना के तहत झारखंड की लड़कियों को 5 वर्षों में औद्योगिक प्रशिक्षण प्रदान करेगी | इस योजना के कार्यान्वयन के लिए सरकार 540 करोड़ रुपये का निवेश करेगी | इस योजना के लिए विश्व बैंक 378 करोड़ रूपए का soft loan देगा | इस योजना के कार्यान्वयन के लिए राज्य सरकार 162 करोड़ रुपए खर्च करेगी |

Tejaswini Project के लिए आवश्यक योग्यता :-

किशोर बालिकाएं और युवा महिलाएं है जिनकी आयुसीमा 14 से 24 वर्षों के मध्य है इस योजना के लिए आवेदन कर सकती हैं | ऐसी महिलाएं जो राज्य के ग्रामीण इलाकों में रहती हैं वे भी इस योजना में शामिल होने के योग्य हैं | इन योजनाओं के माध्यम से महिलाओं को अपने लक्ष्य को प्राप्त करने में मदद मिलेगी |

Tejaswini Project के लिए आवेदन कैसे करें :-

योजना के लिए आवेदन पत्र राज्य के विभिन्न स्कूलों में उपलब्ध हैं | राज्य के 189 middle schools को कार्यक्रम के माध्यम से अतिरिक्त समर्थन प्राप्त होगा | इसमें देवगढ़ के 22 और पलामू के 12 स्कूल शामिल हैं |

सरकार ने झारखंड के 17 जिलों जैसे रामगढ़, खुंती, पूरवी सिंहभूम, सारिकेला-खारसवाना, सिमेदेगा, लोहरदगा, लातेहार, पलामू, चतरा, कोडरमा, देवधर, जमातारा, गोदा, पाकुर, धनबाद, बोकारो और दुमका में  Tejaswini Project शुरू कर दिया है | राज्य सरकार राज्य की महिलाओं के रोजगार के अवसरों में वृद्धि कर उन्हें बेहतर जीवन प्रदान करना चाहती है |

Leave a Reply