सुशासन दिवस (Good Governance Day) कब और क्यों मनाया जाता है ?

सुशासन दिवस (Good Governance Day) :-

सुशासन दिवस (Good Governance Day) को हर साल पूरे भारत में 25 दिसंबर को मनाने की घोषणा भारत सरकार द्वारा की गई है | वास्तव में 25 दिसंबर को हमारे पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी (Atal Bihari Vajpayee) की जयंती है उन्हें हमेशा के लिए सम्मान और आदर देने के लिए उनकी जयंती को सुशासन दिवस (Good Governance Day) के रूप में मनाने की घोषणा की गई है | भारत सरकार द्वारा यह भी घोषित किया गया है कि 25 दिसंबर अर्थात सुशासन दिवस (Good Governance Day) को पूरा दिन काम होगा | 2016 में सुशासन दिवस (Good Governance Day) पूरे भारत में लोगों द्वारा रविवार को 25 दिसंबर की तारीख को मनाया गया |

सुशासन दिवस का इतिहास :-

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी (Atal Bihari Vajpayee) की जयंती 25 दिसंबर को एक सुशासन दिवस (Good Governance Day) के रूप में भारत भर में हर साल मनाने के लिए भाजपा सरकार द्वारा 2014 में घोषित किया गया था | अटल बिहारी वाजपेयी (Atal Bihari Vajpayee) के जन्म दिवस पर प्रतिवर्ष भारत में सुशासन दिवस (Good Governance Day) का जश्न मनाना भारत के लोगों के लिए एक महान सम्मान की बात है | अटल बिहारी वाजपेयी (Atal Bihari Vajpayee) के जन्मदिन को सुशासन दिवस (Good Governance Day) के रूप में मनाने की पहली घोषणा भारत सरकार के इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी (electronics and information technology) विभाग द्वारा की गई थी |

सुशासन दिवस (Good Governance Day) की घोषणा “ई-गवर्नेंस के माध्यम से सुशासन” “(Good Governance through e-Governance)” के आधार पर की गई थी | यह एक घटना है जिसमे जो बैठक और संचार के माध्यम से सभी सरकारी अधिकारियों को आमंत्रित कर मनाया जा रहा था जिसे बाद में मुख्य समारोह के रूप में शामिल कर लिया गया | यह एक दिन के लंबे समय में प्रदर्शनी (exhibition) के आयोजन और सरकारी अधिकारियों भाग लेने के साथ ही ई-गवर्नेंस (e- Governance) और प्रदर्शनी के बारे में कुछ सुझाव आमंत्रित करके मनाया जाता है |

25 दिसंबर को भारत में सुशासन दिवस (Good Governance Day) समारोह की घोषणा क्रिसमस उत्सव (एक राजपत्रित अवकाश के) के साथ की गई थी लेकिन सुशासन दिवस (Good Governance Day) एक पूर्ण कार्य दिवस घोषित किया गया है | पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के 90 वें जन्मदिन पर इसे सुशासन दिवस (Good Governance Day) के रूप में घोषित किया गया था |

सुशासन दिवस कैसे मनाया जाता है :-

NDA सरकार ने अटल बिहारी वाजपेयी और मदन मोहन मालवीय की जयंती पर हर साल जश्न मनाने के लिए  25 दिसंबर को सुशासन दिवस (Good Governance Day) के रूप में मनाने की घोषणा की है |मानव संसाधन विकास मंत्रालय (MHRD) ने सरकारी कार्यालयों, स्कूलों, कॉलेजों और अन्य शैक्षणिक संस्थानों में विभिन्न प्रकार की गतिविधियों और आयोजन के द्वारा सुशासन दिवस (Good Governance Day) का जश्न मनाने की सलाह दी है |

स्कूलों और कॉलेजों के छात्र निबंध लेखन प्रतियोगिता, वाद-विवाद, समूह चर्चा, प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता, खेल और अन्य कई गतिविधियों में भाग लेते हैं | छात्रों की सुगमता के लिए ऑनलाइन निबंध लेखन, ऑनलाइन प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता, आदि के रूप में ऑनलाइन प्रतियोगिताओं की व्यवस्था भी की गई है | सुशासन दिवस का उत्सव दो दिन (25 और 26 दिसंबर) लंबा होगा जिसके दौरान सभी छात्र विभिन्न गतिविधियों में भाग ले सकते हैं |यह भी पुष्टि की है कि प्रतियोगिताओं के ऑनलाइन आयोजन पर स्कूलों को 25 दिसंबर को खोलना आवश्यक नहीं हैं |

छात्र प्रतियोगिताओं में भाग ले भी सकते हैं नहीं भी | यह कोई सशक्त उत्सव नहीं है जिसमे छात्रों को प्रतियोगिताओं में भाग लेना जरूरी है |
छात्रों का प्रतियोगिताओं में भाग लेना या न लेना उनकी इच्छा पर निर्भर करता है | छात्र को अपने घरों या अन्य स्थानों जहां से वे इंटरनेट surf कर सकते हैं से प्रतियोगिताओं में भाग ले सकते हैं |

सुशासन दिवस का उद्देश्य :-

  • सुशासन दिवस देश में एक “open and accountable administration” प्रदान करने के लिए सरकार की प्रक्रियाओं की re-engineering करने के लिए मनाया जाता है |
  • सुशासन दिवस देश में एक पारदर्शी (transparent) और जवाबदेह प्रशासन (accountable administration) उपलब्ध कराने के लिए सरकार की प्रतिबद्धता के बारे में लोगों को जागरूक करने के लिए मनाया जाता है |
  • यह भारत में आम नागरिकों की भलाई (welfare) और कल्याण (betterment) को बढ़ाने के लिए मनाया जाता है |
  • यह सरकार के कामकाज के मानकीकरण (standardize) और साथ ही भारतीय लोगों के लिए एक अत्यधिक प्रभावी और जवाबदेह शासन तैयार करने के लिए मनाया जाता है |
  • यह भारत में सुशासन के मिशन को पूरा करने के लिए अच्छी और प्रभावी नीतियों को लागू करने के लिए मनाया जाता है |
  • यह सरकारी अधिकारियों को उनके काम, आंतरिक प्रक्रियाओं के बारे में जागरूक करने और पूरी प्रतिबद्धता के साथ काम करने के लिए मनाया जाता है |
  • सुशासन के माध्यम से देश में विकास को बढ़ाने के लिए मनाया जाता है |
  • नागरिकों और सरकार को करीब लाने के लिए और उन्हें सुशासन प्रक्रिया में सक्रिय भागीदार बनाने के लिए मनाया जाता है |

loading...

Leave a Reply