5th November – World Tsunami Awareness Day

World Tsunami Awareness Day :-

वर्ष 2015 में, संयुक्त राष्ट्र की महासभा (General Assembly of United Nations) ने 5 नवंबर को विश्व सुनामी जागरूकता दिवस (World Tsunami Awareness Day) के रूप में नामांकित किया था | दुनिया भर में सामान्य लोगों के बीच सुनामी (Tsunami)के बारे में जागरूकता फैलने के लिए इस दिन को मनाया जाना शुरू किया गया है | पहला विश्व सुनामी जागरूकता दिवस 5 नवंबर, 2016 को मनाया गया जिसमें DRR(Disaster Risk Reduction) Champions at AMCDRR (Asian Ministerial Conference for Disaster Risk Reduction) के साथ कई कार्यक्रमों का आयोजन किया गया | 3-5 नवंबर 2016 को संयुक्त राष्ट्र के DRR(Disaster Risk Reduction) कार्यालय के सहयोग से भारत सरकार द्वारा विज्ञान भवन, नई दिल्ली में एक सम्मेलन का आयोजन किया गया था |

भले ही सुनामी (Tsunami) असामान्य हैं लेकिन यह बहुत से लोगों को विशेषकर तटीय क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को प्रभावित कर सकता हैं | वर्ष 2004 में, हिंद महासागर में भूकंप-सुनामी आई थी जिसने 15 देशों के लगभग 5 लाख को प्रभावित किया था | सुनामी (Tsunami) एक वैश्विक समस्या है और इस प्रकार जोखिम को कम करने के उपायों को अपनाने और बेहतर जानकारी के लिए अंतर्राष्ट्रीय सहयोग अत्यंत महत्वपूर्ण है | इस वर्ष भी, विश्व सुनामी जागरूकता दिवस (World Tsunami Awareness Day) आपदा न्यूनीकरण अंतर्राष्ट्रीय दिवस और “Sendai Seven Campaign” के साथ गठबंधन कर मनाया जायेगा | इस अभियान का लक्ष्य दुनिया भर में आपदाओं से प्रभावित लोगों की संख्या को कम करना है |

World Tsunami Day का इतिहास :-

Tsunami” शब्द का नाम जापानी भाषा के “Tsu” जिसका अर्थ है बंदरगाह और “Nami” जिसका अर्थ है लहर से हुआ है | सुनामी (Tsunami) पानी के नीचे बनाई गई बड़ी लहरों की एक श्रृंखला होती है | ये लहरें आम तौर पर भूकंप से संबंधित होती हैं, जो कि सागर के अंदर या आसपास उठती हैं |

हालांकि सुनामी (Tsunami) तुलनात्मक रूप से प्राकृतिक आपदा का एक असाधारण प्रकार है, लेकिन यह दुनिया भर के कई देशों के विनाश और जन-धन की हानि का कारण बनता है | सुनामी (Tsunami) दुनिया के लिए एक गंभीर खतरा है और यह विकास की उपलब्धि को भी बाधित कर सकती है | मार्च 2015 में संयुक्त राष्ट्र में आयोजित तीसरे WCDRR (World Conference on Disaster Risk Reduction) में आपदा जोखिम को कम करने के लिए Sendai Framework को अपनाया गया था | सेंडाई में आयोजित सम्मेलन में, Sustainable Development के लिए 2030 Agenda को भी प्रस्तावित किया गया था | जापान और अन्य देशों ने “विश्व सुनामी जागरूकता दिवस” (World Tsunami Awareness Day) को एक विशेष दिन ​​के रूप में समर्पित किये जाने का प्रस्ताव रखा जिसे संयुक्त राष्ट्र द्वारा नामित किया गया |

Inamura-no-hi” जिसका अर्थ है “burning of the rice sheaves” की प्रसिद्ध जापानी कथा के सम्मान में 5 नवंबर को विश्व सुनामी जागरूकता दिवस के रूप में चुना गया था | वर्ष 1854 में एक भूकंप के दौरान, एक किसान ने देखा कि ज्वार कम हो रहा है जो कि आने वाले सुनामी का संकेत था | ग्रामीणों को चेतावनी देने के लिए, उन्होंने अपनी पूरी फसल में आग लगा दी, परिणामस्वरूप, गांव वालों ने तुरंत गांव छोड़कर उच्च भूमि की तरफ चल दिए | बाद में, उन्होंने भविष्य में ज्वारों को रोकने के लिए पौधों के एक तटबंध का निर्माण किया |

Tsunami क्या है :-

सुनामी (Tsunami) बड़ी लहरें हैं जो समुद्री वायुमंडल की वजह से तट पर उठती हैं, जो भूस्खलन या भूकंप से जुडी होती हैं | कई अन्य प्राकृतिक आपदाओं की तरह, सुनामी (Tsunami)के बारे में भविष्यवाणी करना मुश्किल है, लेकिन यह सुझाव दिया जा सकता है कि भूकंपीय सक्रिय क्षेत्रों में जोखिम अधिक है |

Tsunami के कारण क्या हैं :-

सुनामी (Tsunami) लहरें अत्यधिक खतरनाक होती हैं और आम तौर पर पानी की मजबूत दीवारों की तरह होती हैं | मजबूत लहरें समुद्र तट पर घंटों तक हमला कर सकती हैं, जिससे हजारों लोगों के जीवन को नुक्सान हो सकता है | सुनामी (Tsunami) के कई कारण हैं जैसे पनडुब्बी भूस्खलन, भूकंप, तटीय पत्थरों का गिरना, ज्वालामुखी विस्फोट या Extraterrestrial Collision |

क्या कार्रवाई की जानी चाहिए :-

प्रतिरक्षात्मक उपायों के लिए सुनामी (Tsunami) के प्राकृतिक चेतावनी के लक्षणों को पहचानना अत्यंत महत्वपूर्ण है | चूंकि विशाल भूकंप के कारण सूनामी पैदा हो सकती है, इसलिए आपको पृथ्वी के गंभीर रूप से हिलने या लगातार हिलने को महसूस करना चाहिए | सुनामी (Tsunami) समुद्र के स्तर में तेजी से गिरावट के कारण भी पैदा हो सकता है | यदि आपको पानी की असामान्य लहरें दिखाई दें या पानी की एक दीवार दिखाई दे तो समझ जाइये कि यह सुनामी है | सुनामी एक विमान या ट्रेन की तरह एक गड़गड़ाहट “गर्जन” ध्वनि बनाता है | यदि आप इन लक्षणों में से किसी एक को भी समझते हैं, तो औपचारिक निकासी आदेशों में देरी न करें; साथ ही झील के तटीय क्षेत्रों को तुरन्त छोड़ दें |

Leave a Reply