31 May-World No Tobacco Day | विश्व तंबाकू निषेध दिवस

World No Tobacco Day :-

तंबाकू के उपयोग से स्वास्थ्य संबंधित जोखिमों को उजागर करने के लिए और तम्बाकू के उपभोग को कम करने वाली प्रभावी नीतियों को लागू करने के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) और उसके सहयोगियों द्वारा हर साल 31 मई को World No Tobacco Day (WNTD) के रूप में मनाया जाता है |

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) द्वारा विभिन्न स्वास्थ्य संबंधी घटनाओं जैसे AIDS Day, Mental Health Day, Blood Donor Day, Cancer Day आदि का आयोजन किया जाता है ताकि विश्व को इन रोगों के बारे में जागरूक किया जा सके और  विश्व को इन रोगों से मुक्त किया जा सके | इन सभी महत्वपूर्ण घटनाओं का आयोजन पूरे विश्व में किया जाता है | यह पहली बार 7 अप्रैल 1988 को विश्व स्वास्थ्य संगठन की 40 वीं वर्षगांठ पर मनाया गया था | और बाद में इसे हर साल 31 मई को World No Tobacco Day (WNTD) के रूप में मनाया जाना घोषित किया गया | वर्ष 1987 में विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के सदस्य राज्यों द्वारा इसे World No Tobacco Day (WNTD) के रूप में  बनाया गया था |

इसे मनाने का मुख्य उद्देश्य लोगों को इसके दुष्प्रभावो के बारे में जागरूक करना है और लोगों को दुनिया भर में किसी भी रूप में तंबाकू की खपत को कम करने या पूरी तरह से रोकने के लिए प्रोत्साहित करना है | इस अभियान में शामिल विभिन्न संगठन जैसे राज्य सरकारें, सार्वजनिक स्वास्थ्य संगठन आदि स्थानीय स्तर पर विभिन्न जन जागरूकता कार्यक्रमों का आयोजन करते हैं |

Nicotine की लत स्वास्थ्य के लिए बेहद हानिकारक है और इसे brain “wanting” रोग के रूप में जाना जाता है जिसे कभी भी ठीक नहीं किया जा सकता है लेकिन पूरी तरह से नियंत्रित किया जा सकता है | यह अन्य गैरकानूनी दवाओं, meth, alcohol, और heroin आदि के जैसे brain dopamine pathways को बांध देता है | यह मस्तिष्क को जीवित रहने के लिए आवश्यक वस्तुएं जैसे भोजन और पेय पदार्थ की तरह Nicotine की जरूरत के बारे में झूठा संदेश भेजने के लिए तैयार करता है |

World No Tobacco Day क्यों मनाया जाता है :-

दुनिया भर में World No Tobacco Day का जश्न मनाने का मुख्य उद्देश्य आम जनता को तम्बाकू और इसके उत्पादों के उपभोग को कम करने या रोकने के लिए प्रोत्साहित करना है क्योंकि इससे कुछ घातक बीमारियां (cancer, हृदय की समस्या) हो सकती है जिससे मौत तक हो जाती है | इस अभियान की वैश्विक सफलता के लिए देश के विभिन्न क्षेत्रों के व्यक्ति, गैर-लाभकारी संस्थाएं और सार्वजनिक स्वास्थ्य संगठन इस उत्सव में बहुत सक्रिय रूप से भाग लेते हैं | तंबाकू के उपयोग के खराब प्रभावों से संबंधित सूचनाएं प्रदर्शित करने के लिए पोस्टर वितरित करते हैं |

इसका लक्ष्य तंबाकू या इसके उत्पादों की बिक्री, खरीद या विज्ञापनों में शामिल कंपनियों पर निरंतर निगरानी रखना है | अभियान को प्रभावी बनाने के लिए, विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) हर वर्ष World No Tobacco Day से संबंधित एक विशेष विषय बनाता है | इस दिन के आयोजन से जनता में जागरूकता बढ़ती है और साथ ही साथ पर्यावरण प्रदूषण रहित होता है | तम्बाकू के उपयोग से हर साल दुनियाभर में 10 में से 1 लोग मरते है जबकि दुनिया भर में तम्बाकू का उपयोग करने वालों की संख्या 1.3 अरब है | 2020 तक हम तंबाकू का उपयोग करने वाले लगभग 100 मिलियन लोगों की मृत्यु को नियंत्रित कर सकते हैं | यह सभी धूम्रपान-विरोधी प्रयासों और तंबाकू पर प्रतिबंध लगाने के लिए टीवी या रेडियो विज्ञापन करने जैसे उपायों को लागू करने से संभव है | आंकड़ों के मुताबिक, 1 9 55 में धूम्रपान करने वालों की संख्या में करीब 37.6% की कमी आयी थी जबकि 2006 में यह कमी 20.8% देखी गई थी |

WHO के द्वारा समय-समय पर उठाए गए कदम :-

WHO ने तम्बाकू या उसके उत्पादों के उपयोग को कम करने या प्रतिबंधित करने के लिए कई कदम उठाए हैं जैसे विश्व स्तर पर World No Tobacco Day की स्थापना और विश्व स्तर पर कई अन्य स्वास्थ्य जागरूकता अभियान की स्थापना | WHO द्वारा उठाए गए विशेष कदम निम्न हैं :-

  • WHO ने “World No Tobacco Day” ​​नामक घटना का जश्न मनाने के लिए 1987 में WHA40.38 नामक resolution पारित किया था | 7 अप्रैल 1 9 88 में अपनी 40 वीं वर्षगांठ पर तम्बाकू के उपयोगकर्ताओं को तम्बाकू के इस्तेमाल को कम करने या छोड़ने का अनुरोध किया गया |
  • WHO ने 1989 में WHA42.19 नामक एक अन्य resolution पारित किया था जिसमें हर साल  31 मई को “World No Tobacco Day” समारोह का जश्न मनाने का निर्णय लिया गया |
  • WHO ने 1998 में Tobacco Free Initiative (TFI) नामक एक अन्य आयोजन की स्थापना की थी जिसका लक्ष्य तंबाकू के उपयोग के वैश्विक स्वास्थ्य संबंधी मुद्दों पर लोगों का ध्यान आकर्षित करना था |
  • FCTC, WHO की एक अन्य सार्वजनिक स्वास्थ्य संधि है जिसे 2003 में विश्व स्तर पर अपनाया गया था | जो तंबाकू की समाप्ति के लिए नीतियों को लागू करती है |
  • वर्ष 2008 में WHO ने “Tobacco-free youth” theme बनाकर “World No Tobacco Day” की पूर्व संध्या पर तंबाकू विज्ञापन, प्रायोजन और पदोन्नति पर प्रतिबंध लगाने की घोषणा की थी |

World No Tobacco Day के विषय :-

World No Tobacco Day(WNTD) समारोह के लिए हर साल एक विषय का चयन किया जाता है | वर्ष 1987 से 2017 तक के विषय निम्नानुसार हैं :

  • वर्ष 1987 में World No Tobacco Day(WNTD) समारोह का विषय “1st Smoke-free Olympics (1988 Olympic Winter Games – Calgary)”
  • वर्ष 1988 में World No Tobacco Day(WNTD) समारोह का विषय “Tobacco or Health: choose health”
  • वर्ष 1989 में World No Tobacco Day(WNTD) समारोह का विषय “Women and tobacco: the female smoker: at added risk”
  • वर्ष 1990 में World No Tobacco Day(WNTD) समारोह का विषय “Childhood and youth without tobacco: growing up without tobacco”
  • वर्ष 1991 में World No Tobacco Day(WNTD) समारोह का विषय “Public places and transport: better be tobacco free”
  • वर्ष 1992 में World No Tobacco Day(WNTD) समारोह का विषय “Tobacco free workplaces: safer and healthier”
  • वर्ष 1993 में World No Tobacco Day(WNTD) समारोह का विषय “Health services: our windows to a tobacco free world”
  • वर्ष 1994 में World No Tobacco Day(WNTD) समारोह का विषय “Media and tobacco: get the message across”
  • वर्ष 1995 में World No Tobacco Day(WNTD) समारोह का विषय “Tobacco costs more than you think”
  • वर्ष 1996 में World No Tobacco Day(WNTD) समारोह का विषय “Sport and art without tobacco: play it tobacco free”
  • वर्ष 1997 में World No Tobacco Day(WNTD) समारोह का विषय “United for a tobacco free world”
  • वर्ष 1998 में World No Tobacco Day(WNTD) समारोह का विषय “Growing up without tobacco”
  • वर्ष 1999 में World No Tobacco Day(WNTD) समारोह का विषय “Leave the pack behind”
  • वर्ष 2000 में World No Tobacco Day(WNTD) समारोह का विषय “Tobacco kills, don’t be duped”
  • वर्ष 2001 में World No Tobacco Day(WNTD) समारोह का विषय “Second-hand smoke kills”
  • वर्ष 2002 में World No Tobacco Day(WNTD) समारोह का विषय “Tobacco free sports”

  • वर्ष 2003 में World No Tobacco Day(WNTD) समारोह का विषय “Tobacco free film, tobacco free fashion”
  • वर्ष 2004 में World No Tobacco Day(WNTD) समारोह का विषय “Tobacco and poverty, a vicious circle”
  • वर्ष 2005 में World No Tobacco Day(WNTD) समारोह का विषय “Health professionals against tobacco”
  • वर्ष 2006 में World No Tobacco Day(WNTD) समारोह का विषय “Tobacco: deadly in any form or disguise”
  • वर्ष 2007 में World No Tobacco Day(WNTD) समारोह का विषय “Smoke free inside”
  • वर्ष 2008 में World No Tobacco Day(WNTD) समारोह का विषय “Tobacco-free youth”
  • वर्ष 2009 में World No Tobacco Day(WNTD) समारोह का विषय “Tobacco health warnings”
  • वर्ष 2010 में World No Tobacco Day(WNTD) समारोह का विषय “Gender and tobacco with an emphasis on marketing to women”
  • वर्ष 2011 में World No Tobacco Day(WNTD) समारोह का विषय “The WHO Framework Convention on Tobacco Control”
  • वर्ष 2012 में World No Tobacco Day(WNTD) समारोह का विषय “Tobacco industry interference”
  • वर्ष 2013 में World No Tobacco Day(WNTD) समारोह का विषय “Ban tobacco advertising, promotion and sponsorship”
  • वर्ष 2014 में World No Tobacco Day(WNTD) समारोह का विषय “raise taxes on tobacco”
  • वर्ष 2015 में World No Tobacco Day(WNTD) समारोह का विषय “Stop illicit trade of tobacco products”
  • वर्ष 2016 में World No Tobacco Day(WNTD) समारोह का विषय “Get ready for plain packaging”
  • वर्ष 2017 में World No Tobacco Day(WNTD) समारोह का विषय “Tobacco – a threat to development”

Leave a Reply