12 May – International Nurses Day | अंतरराष्ट्रीय नर्सिंग दिवस : 12 मई

International Nurses Day :-

बहुत से लोग सोचते हैं कि स्वास्थ्य सेवा प्रणाली में सबसे महत्वपूर्ण व्यक्ति डॉक्टर हैं, लेकिन यह पूरी तरह सच नहीं है | वो नर्स (nurses) हैं जो हमारे सभी चिकित्सा संस्थानों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं, और जो मरीजों के welfare, safety और recovery के लिए जिम्मेदार होती हैं | नर्सें (nurses) किसी भी बीमारी से पीड़ित रोगियों को उचित सेवाएं और सुविधाएं प्रदान करने के लिए तैयार होती हैं | नर्सें मरीजों के बारे में हर जानकारी इकट्ठा कर रोगी की उनकी शारीरिक स्थिति के अनुसार इलाज करती हैं |

 

International Nurses Day (IND) दुनिया भर में हर साल 12 मई को Florence Nightingale की जयंती मनाने और लोगों के स्वास्थ्य में नर्सों के योगदान को चिह्नित करने के लिए मनाया जाता है | ऐसी कई नर्सें हैं जो दिन के साथ-2 रात में भी काम करती हैं | रोगियों को कई रोगों से जीवित रहने के लिए नर्सों का इस्तेमाल किया जाता है | नर्सें ही मरीजों के बेहतर विश्व के लिए जिम्मेदार होती हैं |

नर्सों का महत्व दुनिया भर में है ताकि रोगी के कल्याण और इलाज की हर गतिविधि का विकास किया जा सके | लोगों की भलाई के लिए सभी महत्वपूर्ण विचारों और योजनाओं को पूरा करने के लिए नर्से इस दिन एक साथ इकट्ठा होती हैं |

International Nurses Day का इतिहास :-

Nurses Day को सबसे पहले 1953 में एक अधिकारी Dorothy Sutherland (U.S. Department of Health, Education and Welfare) के द्वारा प्रस्तावित किया गया था और राष्ट्रपति Dwight D. Eisenhower द्वारा इसे सबसे पहले घोषित किया गया था | और इसे यह पहली बार 1965 में International Council of Nurses (ICN) ने मनाया था |

जनवरी 1974 में, 12 मई को आधुनिक नर्सिंग संस्थापक Florence Nightingale की जयंती के रूप में मनाया जाना घोषित किया गया | International Nurses Day के अवसर पर प्रत्येक वर्ष International Council of Nurses (ICN) द्वारा International Nurses Day Kit तैयार की जाती है और वितरित की जाती है |

1999 में UNISON ने ICN से इस दिन को किसी और तिथि में मनाने के लिए कहा था क्योंकि Florence Nightingale आधुनिक नर्सिंग का प्रतीक नहीं है | तब से 8 मई को National Student Nurses Day सालाना मनाना शुरू किया गया और 2003 से हर साल National Nurses Week की शुरुआत 6 मई से 12 मई तक की गई |

International Council of Nurses (ICN) ने Florence Nightingale की जयंती पर 12 मई को दुनियाभर में अंतर्राष्ट्रीय नर्स दिवस के रूप में मनाया | International Council of Nurses (ICN) ने वर्ष  2014 में IND Kit वितरित की थी | जिसका विषय था  -“Nurses: A Force for Change – A vital resource for health” | इस दिन नर्सों को इस किट को अपने व्यक्तिगत और समूह के माध्यम से व्यापक रूप से उपयोग करने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है |

Florence Nightingale का जन्म 12 मई 1820 को हुआ था | 1850 के दशक के दौरान वह Crimean युद्ध के बाद से नर्सिंग की एक महत्वपूर्ण आंकड़ा बन गई |उन्होंने Barrack Hospital, Scutari में स्वास्थ्य देखभाल सेवाओं और नर्सिंग में सुधार के बारे में जाना और 1860 में St. Thomas Hospital, London में “Nightingale School of Nursing” खोला  | International Council of Nurses (ICN) ने सबसे अच्छी स्वास्थ्य देखभाल सेवाएं प्रदान करने में नर्सों के महत्व को उजागर करने के लिए 1974 में इस दिन की स्थापना की, जिसे हर साल  मनाया जाता है |

International Nurses Day कैसे मनाया जाता है :

Westminster Abbey, London में एक candle lamp service के आयोजन के द्वारा International Nurses Day हर साल मनाया जाता है | Candle lamp को उच्च वेदी पर रखने के लिए candle को एक नर्स से दूसरे में सौंप दिया जाता है | एक और बड़ा समारोह उनके जन्मदिन के एक दिन बाद St. Margaret’s Church में आयोजित किया जाता है जो Florence Nightingale का burial place है |

अमेरिका और कनाडा में  यह 6 मई से 12 मई तक National Nursing Week के रूप में सप्ताह भर के लिए मनाया जाता है | ऑस्ट्रेलिया में पूरे सप्ताह कई तरह के नर्सिंग समारोहों का आयोजन किया जाता है | National Nursing Week का आयोजन अंतरराष्ट्रीय स्तर पर स्वास्थ्य देखभाल सेवाओं को लक्षित करता है | इसे आम जनता के लिए नर्सों के योगदान और प्रतिबद्धताओं को पहचानने के लिए मनाया जाता है | American Nurses Association, districts nurses associations और अन्य स्वास्थ्य देखभाल कंपनियों और संस्थाओं के साथ National Nursing Week को सारे राज्य में प्रोत्साहित करती है |

रोगियों को देखभाल करने में नर्सों की महत्वपूर्ण भूमिका के लिए पूरे सप्ताह यह उत्सव मनाया जाता है | कई तरह के कार्यक्रम जैसे educational seminars, विभिन्न सामुदायिक घटनाओं, वाद-विवाद प्रतियोगिताओं, विचार-विमर्श आदि आयोजित किये जाते हैं | इस दिन मित्रों, परिवार के सदस्यों, सहकर्मियों द्वारा उन्हें उपहार या फूल देकर, रात्रिभोज का आयोजन कर नर्सों की सराहना की जाती है और उन्हें सम्मानित किया जाता है |

International Nurses Day के विषय :-

International Nurses Day (IND) समारोह के लिए हर साल एक विषय का चयन किया जाता है | वर्ष 1988 से 2017 तक के विषय निम्नानुसार हैं :

  • वर्ष 1988 में International Nurses Day (IND) समारोह का विषय “Safe Motherhood”
  • वर्ष 1989 में International Nurses Day (IND) समारोह का विषय “School Health”
  • वर्ष 1990 में International Nurses Day (IND) समारोह का विषय “Nurses and Environment”
  • वर्ष 1991 में International Nurses Day (IND) समारोह का विषय “Mental Health – Nurses in Action”
  • वर्ष 1992 में International Nurses Day (IND) समारोह का विषय “Healthy Aging”
  • वर्ष 1993 में International Nurses Day (IND) समारोह का विषय “Quality, costs and Nursing”
  • वर्ष 1994 में International Nurses Day (IND) समारोह का विषय “Healthy Families for Healthy Nation”
  • वर्ष 1995 में International Nurses Day (IND) समारोह का विषय “Women’s Health: Nurses have the Way”
  • वर्ष 1996 में International Nurses Day (IND) समारोह का विषय “Better Health through Nursing Research”
  • वर्ष 1997 में International Nurses Day (IND) समारोह का विषय “Healthy Young People = A Brighter Future”
  • वर्ष 1998 में International Nurses Day (IND) समारोह का विषय “Partnership for Community Health”
  • वर्ष 1999 में International Nurses Day (IND) समारोह का विषय “Celebrating Nursing’s past, claiming the future”
  • वर्ष 2000 में International Nurses Day (IND) समारोह का विषय “Nurses – Always there for you”
  • वर्ष 2001 में International Nurses Day (IND) समारोह का विषय “Nurses, Always There for You: United against Violence”

  • वर्ष 2002 में International Nurses Day (IND) समारोह का विषय “Nurses Always There for You: Caring for Families”
  • वर्ष 2003 में International Nurses Day (IND) समारोह का विषय “Nurses: Fighting AIDS stigma, working for all”
  • वर्ष 2004 में International Nurses Day (IND) समारोह का विषय “Nurses: Working with the Poor; Against Poverty”
  • वर्ष 2005 में International Nurses Day (IND) समारोह का विषय “Nurses for Patients’ Safety: Targeting counterfeit medicines and substandard medication”
  • वर्ष 2006 में International Nurses Day (IND) समारोह का विषय “Safe staffing saves lives”
  • वर्ष 2007 में International Nurses Day (IND) समारोह का विषय “Positive practice environments: Quality workplaces = quality patient care”
  • वर्ष 2008 में International Nurses Day (IND) समारोह का विषय “Delivering Quality, Serving Communities: Nurses Leading Primary Health Care”
  • वर्ष 2009 में International Nurses Day (IND) समारोह का विषय “Delivering Quality, Serving Communities: Nurses Leading Care Innovations”
  • वर्ष 2010 में International Nurses Day (IND) समारोह का विषय “Delivering Quality, Serving Communities: Nurses Leading Chronic Care”
  • वर्ष 2011 में International Nurses Day (IND) समारोह का विषय “Closing the Gap: Increasing Access and Equity”
  • वर्ष 2012 में International Nurses Day (IND) समारोह का विषय “Closing the Gap: From Evidence to Action”
  • वर्ष 2013 में International Nurses Day (IND) समारोह का विषय “Closing the Gap: Millennium Development Goals”
  • वर्ष 2014 में International Nurses Day (IND) समारोह का विषय “Nurses: A Force for Change – A Vital Resource for Health”
  • वर्ष 2015 में International Nurses Day (IND) समारोह का विषय “Nurses: A Force for Change: Care Effective, Cost Effective”
  • वर्ष 2016 में International Nurses Day (IND) समारोह का विषय “Nurses: A Force for Change: Improving health systems’ resilience”
  • वर्ष 2017 में International Nurses Day (IND) समारोह का विषय “Nursing: A voice to lead – Achieving the Sustainable Development Goals”

 

Leave a Reply