उत्तरप्रदेश सरकार की “मुख्यमंत्री किसान एवं सर्वहित बीमा योजना”

मुख्यमंत्री किसान एवं सर्वहित बीमा योजना :-

उत्तरप्रदेश सरकार ने “समाजवादी किसान एवं सर्वहित बीमा योजना” का नाम बदलकर “मुख्यमंत्री किसान एवं सर्वहित बीमा योजना” रखने का फैसला किया है | इस योजना का उद्देश्य किसानों और उत्तर प्रदेश के कमजोर वर्ग को वित्तीय और सामाजिक सहायता प्रदान करना है |

मुख्यमंत्री किसान एवं सर्वहित बीमा योजना” के अंतर्गत भूमिहीन किसानों, सड़क विक्रेताओं और आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को लाभ होगा | यह योजना समाज के कमजोर वर्ग को सामाजिक सुरक्षा प्रदान करेगी | राज्य के निवासी बीमा केयर कार्ड (Bima care card) का उपयोग करके योजना का लाभ उठा सकते हैं जो कि राज्य सरकार द्वारा प्रदान किया जाएगा |  अगर किसी भी देरी के कारण बिमा केयर कार्ड चिंता प्राधिकारी द्वारा जारी नहीं किया जाता है, तो भी खाताधारक, नामांकित व्यक्ति और अन्य सदस्य इस योजना का लाभ उठा सकेंगे |

मुख्यमंत्री किसान एवं सर्वहित बीमा योजना का उद्देश्य :-

  • योजना के तहत किसानों, सड़क विक्रेताओं और आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को दुर्घटना की स्थिति में मुफ्त इलाज उपलब्ध करवाया जाएगा |
  • इस योजना का लाभ केवल चयनित अस्पतालों में ही मिलेगा |
  • योजना में आर्थिक रूप से कमजोर और किसानों को लाभा प्राप्त होगा |
  • इस बीमा योजना के तहत मात्र ऐसे व्यक्ति लाभार्थी होंगे जिनके परिवार की वार्षिक आय 75 हजार रुपये से कम होनी चाहिए |
  • योजना के तहत चयनित 56 निजी अस्पतालों,  S N Medical College और जिला अस्पतालों में इलाज करा रहे पात्र लाभार्थी होंगे |
  • योजना के अंतर्गत, लगभग 3 करोड़ परिवारों को राज्य सरकार द्वारा बीमा कवर दिया जाएगा |
  • मृत्यु के मामले में 5 लाख रुपये के आकस्मिक बीमा कवर के माध्यम से वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी |
  • इसके अलावा शारीरिक क्षति के मामले में लाभार्थी को चिकित्सा उपचार के लिए 2.5 लाख रुपये तक की बीमा राशि प्रदान की जाएगी |

मुख्यमंत्री किसान एवं सर्वहित बीमा योजना के लिए पात्रता मापदंड :-

  • आवेदक को उत्तर प्रदेश राज्य का मूल निवासी होना चाहिए |
  • आवेदक की आयु 18-70 वर्षों के मध्य होनी चाहिए |
  • आवेदक के परिवार की वार्षिक आय 75 हजार रुपये से कम होनी चाहिए |

Leave a Reply